मिर्च की खेती से हुई 40 लाख की कमाई,जानिए यह किसान कैसे बना लखपति

 
g

देशभर में बहुत से किसान अब गेहू,धान,मक्का,दलहन और तिलहन की खेती की जगह नकदी फसलों की खेती करना पसंद करते है।भारत में मिर्च मसलो का काफी महत्व है।उत्तर प्रदेश,बिहार,आंध्र प्रदेश,ओडिसा के साथ देश के कई राज्यों में मिर्च की अच्छी उपज होती है। जिससे किसान को काफी अच्छा मुनाफा होता है। ये मुनाफा लाखो का होता है।मिर्च की खेती के लिए उपजाऊ जमीन और पानी के अच्छे निकास की व्यवस्था होना जरुरी है। इसी कारण से क्षेत्रों में मिर्च की अच्छी पैदावार मिल जाती है। 

h

किसान आधुनिक तरीके से मिर्च की खेती कर रहे है,जिससे उन्हें 5 एकड़ की खेती से सालाना 40 लाख तक की कमाई हो रही है।मध्यप्रदेश के बड़वानी के किसान ने 5 एकड़ जमीन में हरी मिर्च की खेती कर साल में 40 लाख रूपये की कमाई कर रहे है।रासयनिक आधुनिक खाद और कीटनाशक की जगह जैविक तरीके से खेती कर विजय अच्छा मुनाफा कमा रहे है .रासायनिक खाद के कारन से फसले बर्बाद हो रही है थी ,लेकिन पिछले 3 साल से उन्होंने जैविक खेती करना शुरू किया है और 5 एकड़ में हरी मिर्च की खेती ने उनका जीवन बदल कर रख दिया है। 

किसान मौसम की जानकारी लेकर उसके अनुसार से खेती करने का नया नुस्खा निकाला है।अगर मौसम उनका साथ देता है तो उनकी कमाई लागत से 3 चार गए ज्यादा हो जाती है। 2 महीने में मिर्च की खेती में 300000 का निवेश किया। इसके बाद दो लाख की हरी मिर्च बेच चुके है। विजय को उम्मीद है की इस साल भी मिर्च की खेती से साल में उन्हें 40 लाख रूपये की कमाई हो सकती है।वही मिर्च के बीज से खेती शुरू की। इससे 9 से 10 सेंटीमीटर लंबे और काफी तीखी मिर्च की उपज हुई। प्रति एकड़ करीब 35 किवतल हरी मिर्च की उपज से लगभग 8 कीवट्ल सुखी मिर्च प्राप्त हुई। 

h

किसान खेत तैयार के लिए कमल किशोर तीन चार बार जुताई करते है।बीज बोने से 20 दिन पहले खाद डाल देते है।खेत तैयार करने के साथ ही 60 सेंटीमीटर की दुरी पर मेड की नालिया तैयार करते है।बीज अंकुरण होने तक पौधे को पॉलीथिन से ढक दिया जाता है।पौधे निकलने के बाद हानिकारक किट से बचाव के लिए जरुरी दवा का छिड़काव करते रहते है। वही 70 दिन में तैयार होने वाली मिर्च की फसल में 20000 का खर्च आता है।जबकि प्रति एकड़ करीब 200000 की कमी होती है।