हरियाणा के गन्नौर में एशिया की सबसे मंडी होने जा रही है शुरू,इन राज्यों के किसानो को होगा लाभ

 
h

हरियाणा के गन्नौर में एशिया की सबसे बड़ी मंडी जल्द शुरू होने वाली है। खबरों के अनुसार इसी साल अगस्त,सितंबर माह में इसकी शुरुआत कर दी जाएगी। इसके देश के 14 राज्यों के किसानो को बेहद फायदा होने वाला है। इससे किसानो को फल,फूल और सब्जियों का एक बड़ा मार्किट मिल जाएगा जहा किसान बागवानी फसलों को खरीद और बेच सकते है। 

g
 
रिपोर्ट्स के मुताबित राज्य सरकार ने बागवानी मंडी में सारे कामो को पूरा करने की दिशा में तेजी ला दी है। इसके लिए बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की 18 वि बैठक में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंट लगाने के लिए रीक्रेस्ट फॉर प्रोपोजल को मंजूरी दी है। इसके बड़ा काम में तेजी आएगी।आपको बता दे की वर्ष 2004 में गन्नौर की इस अंतराष्टीय बागवानी मंडी की आधारशिला तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने रखी थी। इसके लिए 500 एकड़ जमीन को इस मंडी के लिए अधिग्रहित किया गया है। 

खबरों के अनुसार इस मंडी में फूल,फल सब्जी,और डेयरी उत्पाद की सभी तरह की खरीद व बिक्री कर सकते है। डेढ़ शतक पहले शुरू हुई इस मंडी का पहला शेड बनकर तैयार हो गया है इन दुकानों में लोडिंग अनलोडिंग सहित सभी तरह की सुविधाए मिलेगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटर ने अधिकारियो को जल्द मंडी शुरू करने के आदेश दिए है जिससे किसनओ को फायदा होगा। 

g

वही इस मंडी में कई चीजे खास है इस मंडी में 8 हजार करोड़ रूपये की लगत आएगी जिसमे से 1600 करोड़ रूपये नावार्ड देगा। बगनवादी मंडी में 17 बड़े शेड बनाये जाएगी जिसमे आलू,प्याज,टमाटर,डेयरी प्रोडेक्ट,फूल और सब्जियों के लिए अलग अलग शेड है और एयर कंडीशड फूल और फिश मार्किट बनाई जाएगी।और राजयो से आने वाले वाहनों के लिए पार्किंग बनाई जा रही है।