Dairy farming : सरकार ने बनाया मेगा प्लान,अब 60 लीटर तक बढ़ेगा दूध उत्पादन,होगा मुनाफा

 
g
 

आजकल गांव में लोगो की खेती बाड़ी के अलाव पशुपालन और डेयरी फॉर्मिंग भी अर्थव्यवस्था का मुख्य साधन है।आज के समय में यह किसानो की आय का एक जरुरी जरिया बन गया है।अब गांव के लोग गांव में रहकर ही इससे अच्छी खासी इनकम कर लेते है। इससे अन्य लोगो को रोजगार भी दे रहे है। पशुपालन और डेयरी फार्मिग की और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार भी अपने अपने स्तर पर प्रयास कर रही है। ऐसे में पशुपालन को बढ़ावा देने और रोजगार के नए अवसर बनाने के लिए नई तकनीकों का सहारा भी लिया जा रहा है। राज्य में दूध ईत्पादकता में सुधार और दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के उद्देश्य से गोवंशीयो के अनुवांशिकीय उत्पन और स्वदेशी नस्लों के विकास और सरक्षण के लिए केंद्र सरकार की राष्टीय गोकुल मिशन के तहत कृत्रिम गर्भधान अभियान को चलाने की योजना बनायीं जा रही है। सरकार ने इस अभियान के तहत राज्य के प्रतिदिन दूध उत्पादन को 60 हजार लाख मीटर तक बढ़ाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। आकड़ी के नौसर इन दिनों राज्य में 90 लाख लीटर प्रतिदिन दुग्ध उत्पादन हो रहा है। 

h

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के निर्देशक पर प्रदेश में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए राष्टीय गोकुल मिशन ' के तहत एक हजार करोड़ रूपये निवेश किये जाएगे। यह राष्टीय गोकुल मिशन का हिस्सा है ,जिसे दिसंबर 2014 में स्वदेशी नस्लों के सरक्षण और विकास पर ध्यान देने के साथ साथ गोजातीय आबादी के दूध उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाने के उद्देश्य से शुरू किया जाएगा। उनका कहना है की केंद्र की इस परियोजना के तहत प्रदेश में दूध उत्पादन और मवेशियों की आबादी बढ़ाने के लिए कृत्रिम गर्भाधन क्रायक्रम चलाया जाएगा। 

h

साल 2019 - 20 के दौरान ,कृतिम गर्भाधान के राष्टीय स्तर पर 605 जिलों में कार्यक्रम को आयोजित किया जाता है,जहा 50 प्रतिष्ठ से कम कृत्रिम गर्भाधान कवरेज था। इस साल इसमें मुख्य रूप से चुने गए करीब 300 जिलों के गाँवो को जोड़ा गया है। इस दौरान उच्च आनुवंशिक योग्यता वाले सांडो के वीर्य से 50 लाख से ज्यादा गोवंश का गर्भाधन किया गया। 

आकड़ो के अनुसार उत्तर प्रदेश पुरे देश के दुग्ध उत्पादन का 16.60 प्रतिशत दुग्ध उत्पादित करता है।यानी देश का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक वाला राज्य है।प्रदेश में प्रतिदिन 8.72 करोड़ लीटर से ज्याद दूध का उत्पादन होता है।जिसमे से 48 परतिशतः खपत रही में होती है। इसके बाद बची हुई उत्पादक को बाकी राज्यों में सप्लाई कर दिया जाता है। खबरों के अनुसार उत्तर प्रदेश वर्तमान में 319 लाख मीट्रिक तन दूध का उत्पादन कर रहा है। देश में 16.60 प्रतिशत शेयर के साथ उत्तर देश का सर्वाधिक दुग्ध उत्पादन करने वाला राज्य है।अगर पिछले पांच सालो की बात करे तो दुग्ध उत्पादन में प्रदेश में 20 प्रतिष्ठ की वृद्धि हुई है। देश के अबकी राज्यों में 256 मीट्रिक टन दूध का उत्पादन किया है