खरीफ फसलों पर दिखा ग्रॉस हॉपर का खतरनाक प्रकोप जानिए किसान कैसे करें इन फसलों का बचाव

 
PIC

देश में खरीफ की बुवाई का अंतिम समय चल रहा है कई राज्यों में किसान इसकी बुवाई कर चुके है तो कई इसकी बुवाई का दौर पूरा कर चुके है दरअसल इस बार खरीफ की फसल मक्का ज्वार बाजरा की फसल में ग्रॉस हॉपर कीट का प्रकोप देखा जा रहा है अगर टाइम पर इसका कंट्रोल नहीं किया गया तो इससे किसानों की फसल को नुकसान हो सकता है जिससे किसानों को आर्थिक रूप से हानि हो सकती है

PIC           
यह कीट हरे से भूरे रंग का कीट होता है इसके एंटीना की छोटी जोड़ी होती है इसके वयस्क की लंबाई एक से सात सेंटीमीटर होती है इसकी मादा पुरे मौसम में 200 की संख्या में अंडे देती है मौसम अनुकूल रहने पर अण्डों की संख्या 400 तक पहुंच सकती है मादा वयस्क दो इंच मिटटी के अंदर रहकर अंडे देती है यह किट जल्दी वृद्धि करते है जो किसानों की फसल के लिए हानिकारक है  यह कीट रात को अधिक सक्रिय होता है और यह फसल की पत्तियों को नुकसान पहुंचता है यह पत्तियों को किनारों से खाकर चट कर जाता है ग्रॉस हॉपर को फुदका रोग के नाम से जाना जाता है 
ग्रॉस हॉपर टिड्डे की जैसा दिखाई देने वाला कीट है किसान कई बार इसे ही टिड्डा समझ कर घबरा जाते है लेकिन दोनों में अंतर होता है ग्रॉस हॉपर आकर में टिड्डे से बड़ा होता है जिसमें एंटीना की एक छोटी जोड़ी होती है जबकि टिड्डा ग्रॉस हॉपर से आकर छोटा होता है जिसमें एंटीना की एक बहुत लंबी जोड़ी होती है वे शरीर के रंग में भी अलग होते है टिड्डे चमकीले हरे रंग के होते है जबकि ग्रॉस हॉपर भूरे रंग के होते है  

PIC                                                         
ग्रॉस हॉपर कीट शिशु पत्तियों को किनारे से खाना शुरू करते है जबकि प्रौढ़ कीट फसल को सीधा नुकसान पहुंचाते है इसलिए शिशु अवस्था में ही कंट्रोल करना जरुरी होता है किसान रासायनिक दवाओं के इस्तेमाल से इस कीट पर कंट्रोल किया जा सकता है सरकार द्वारा इन कीटनाशकों की खरीद पर सब्सिडी भी दी जाती है 
राजस्थान कृषि विभाग ने राज्य में खरीफ फसल को फड़का कीट से बचने के लिए किसानों को सलाह जारी की है इसमें कहा गया है की फसलों में ज्यादा आर्थिक क्षति होने या अधिक कीट होने पर रासायनिक कीट का प्रयोग कर सकते है कीटनाशक का इस्तेमाल सुबह शाम के समय खड़ी फसल में करें फड़का रोग के बचाव के लिए क्यूनालफास 1.5 प्रतिशत किलोग्राम प्रति हेक्टेयर क्यूनालफास 25 % 1  लीटर प्रति हेक्टेयर 1 लीटर प्रति हेक्टेयर छिड़काव करने की सलाह दी जाती है  

PIC
कीट नाशक का छिड़काव करते समय इन बातों का ध्यान रखें 
कीटनाशक का छिड़काव शाम के समय ही करना चाहिए 
चूर्ण रूप में कीटनाशी का छिड़काव करते समय डस्टर प्रयोग करना चाहिए 
कीटनाशक का छिड़काव करते समय मुहं पर कपड़ा या मास्क लगा लेना चाहिए