अगर आप भी खिलाते है पशुओ को बाजरा,तो इससे होने वाले नुकसान और फायदों के बारे में जरूर जानिए

 
k

अक्सर सुनते है की पशुओ को आनाज खिलाने से परहेज करना चाहिए।लेकिन बाजरे मनुष्य के साथ साथ पशुओ को लाभ पहुंचाता है।बाजरा पौष्टिक गुणों से भरपूर है,जो पशुओ में पोषण की कमी को दूर करता है।बाजरे में पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम,आयरन,पोटेशियम,कैल्शियम प्रोटीन आदि पाया जाता है।वही पशुओ को बाजरा खिलाने से कई फायदे होते है और साथ में इसके नुकसान भी है।तो चलिए जानते है पशुओ को बाजरा खिलाने से होने वाले नुकसान और फायदों के बारे में 

किन पशुओ को खिलाए बाजरा 

अगर आपके पशु का पाचन तंत्र कमजोर है तो आपको उन्हें बाजार कम खिलाना चाहिए।क्युकी बाजरा मोटे अनाज की श्रेणी में आता है और जिन पशुओ का पाचन तंत्र मजबूत होता है वही बाजरे को पचा सकते है। 

पशुओ को बाजरा खिलाने के फायदे 

बाजरे से पशुओ का पाचन तंत्र मजबूत होता है।मासा पशु जो बच्चा पैदा करने के बाद अक्सर बीमार रहती है उन्हें बाजरा खिलाना चाहिए। पशुओ की लिवर से जुडी बीमारी दूर होती है। दुधारू पशुओ को बाजरे का चारे खिलाने से पशु में दूध उत्पादन बढ़ता है। 

पशुओ को कैसे खिलाए बाजरा 

पशुओ को बाजरा पकाकर खिलाना चाहिए।बाजरे को दलीय के रूप में पकाकर खिलाए। बाजरे के आते को पानी में मिलाकर पशुओ को खिलाना चाहिए। पशुओ को 1-2 किलो बाजरा रोजाना खिला सकते है।छोटे पशुओ को अगर सुनियोजित ढंग से बाजरा खिलाया जाए तो उनका वजन तेजी से बढ़ता है।पशुओ को बाजरा खिलते समय नमक जरूर डाले। 

बाजरे से बढ़ता है दूध उत्पादन 

अगर आप पशुओ में दूध उत्पादन की परेशानी से जूझ रहे है तो पशुओ को बाजरा खिलाने से दूध उत्पादन बढ़ा सकते है।बाजरा खिलाने के बाद पशु हिट में आने लगते है,जिसके बाद उन्हें पशुओ को हिट में लाने के लिए कोई अलग से दवा कीजरूरत नहीं है।इसके साथ ही बाजरे को और मेथी को अंकुरित करके लगातार 4-5 दिन तक खिलाते रहे,इससे दूध उत्पादक बढ़ता है। 

बाजरे के नुकसान 

लगातार पशुओ को बाजरा खिलाने से आयरन की मात्रा कम हो जाती है,जिसके कारन आपके पशुओ के शरीर में गांठे उभर सकती है।ज्यादा बाजरा खिलाने से पशुओ में आफरा की परेशानी होने लगती है।