प्याज की खेती पर मिल रही है 50 % तक की सब्सिडी जानिए कैसे करें आवेदन

 
PIC

कम लागत में बंपर कमाई की वजह से किसानों के बीच बागवानी की फसलें बहुत फेमस हो रही है किसानों को इन फसलों की खेती करने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रोत्साहित भी किया जा रहा है कई राज्यों में इन फसलों की खेती करने के लिए किसानों को बंपर सब्सिडी भी दी जा रही है 

PIC
बिहार सरकार द्वारा प्याज की खेती करने के लिए 98000 रूपये प्रति हेक्टेयर इकाई लागत पर 50 % तक की सब्सिडी यानि 49000 रूपये दिए जा रहे है किसान इस सब्सिडी स्किम का लाभ लेने के लिए कृषि विभाग उद्यान निदेशालय की आधिकारिक वेबसाइट horticulture.bihar.gov.in पर आसानी से आवेदन कर सकते है इसके अलावा जानकारी के लिए अपनी नजदीकी जिले में उद्यान विभाग से संपर्क कर सकते है 
प्याज की खेती को किसी भी उपजाऊ मिट्टी में उगाया जा सकता है बलुई दोमट मिट्टी इसकी खेती के लिए उपयुक्त मानी जाती है प्याज को कंद के रूप में उगाया जाता है इसलिए जलभराव वाली भूमि में इसकी खेती को नहीं करना चाहिए इसकी फसल के लिए 5 से 6 PH मान वाली भूमि की जरूरत होती है इसकी खेती सर्द और गर्म दोनों ही जलवायु में की जा सकती है 
प्याज की रोपाई पौधों के द्वारा की जाती है इसके कंदों को खेत में लगाने से पहले इसके पौधों को एक से 2 महीने पहले नर्सरी  में तैयार कर लिया जाता है अगर इस प्रक्रिया को अपनाना चाहते है तो किसी भी रजिस्टर्ड नर्सरी से आप प्याज के पौधे खरीद कर खेतों में लगा सकते है 

PIC
एक हेक्टेयर के खेत से प्याज की लगभग 250 से 400 क्विंटल की पैदावार प्राप्त की जा सकती है अगर किसान चाहे तो इसकी दोनों पैदावार से 800 क्विंटल की पैदावार प्राप्त कर सकते है इस हिसाब से किसान भाई 1 साल में 3 से 4 लाख रूपये तक अच्छी कमाई कर सकते है