Shareefa Ki kheti: शरीफा की खेती कर कुछ ही समय में बन जाएंगे लखपति ,जानिए सीताफल की खेती की पूरी जानकारी

 
pic

भारतीय किसान अब पहले से ज्यादा जागरूक हो गए है उन्हें समझ में आने लगा है कि फसलों कि खेती कर वे बंपर कमाई कर सकते है किसानों के बीच शरीफा कि खेती काफी फेमस है देश के कई हिस्सों में किसान इसकी खेती कर बढ़िया मुनाफा कमा रहे है 

pic
शरीफा एक औषधीय पौधा है हार्ट संबंधी बिमारियों से डॉक्टर्स इसकी पत्तियों को खाने कि सलाह देते है लूज मोशन जैसी बीमारियों में इसका सेवन काफी लाभकारी होता है इसके पौधे ज्यादा देखभाल कि जरूरत नहीं पड़ती है औषधीय गुण होने के कारण इसके पौधों को जानवर खाना पसंद नहीं करते है इस पौधे पर हानिकारक कीड़ें एवं बीमारियां भी नहीं लगती है वहीं इसके बीजों से तेल और साबुन बनाने का भी काम किया जाता है 
शरीफा के पौधों कि खेती किसी भी प्रकार कि भूमि पर की जा सकती है हालांकि अच्छी जल निकासी वाली दोमट मिटटी इसकी बदवार और पैदावार बढ़ा सकती है कमजोर और पथरीली भूमि पर भी अच्छे तरिके से इसकी खेती कर सकते है भूमि का ph मान 5.5 से 6.5 केबीच अच्छा माना जाता है          

pic
 शरीफा की खेती के लिए मानसून यानि जुलाई और अगस्त का महीना सबसे उपयुक्त माना जाता है शरीफा का बीज जन्मे में काफी वक्त लगता है इसलिए इसकी बुवाई पहले 3 -4 दिनों तक पानी में भिगो कर रख दें ऐसा करने से ये जल्दी से अंकुरण हो जाता है अगर इस दौरान बारिश ना हो तो खेतों की 3 -4 दिन सिंचाई करने के बाद ही इसकी बुवाई करें 
शरीफा के पौधें खेत में लगाने के 2 से 3 साल बाद फल देना शुरू कर देते है इनके फलों की तुड़ाई पूर्ण रूप से पके होने और कठोर अवस्था में ही करनी चाहिए इसके एक विकसित पौधे से 100 से ज्यादा फल प्राप्त होने लगते है मार्केट में ये फल 40 से 100 रूपये प्रति किलो के बीच बिकते है अगर आप एकड़ में इसके 500 के आसपास पौधे है तो आप आराम से 3 से 4 लाख तक की कमी कर सकते है