फर्टिलाइजर बनाने वाली इन कंपनियों का होगा निजीकरण,जानिए इस सूचि में किसका नाम है ??

 
h

केंद्र सरकार ने सरकारी कंपनियों के विनिवेश प्रक्रिया को तेज कर दिया है.उर्वरक निर्माण में लगी 8 सरकारी कंपनियों के निजीकरण को निति आयोग की बैठक में हरी झंडी मिल गयी है.यह बैठक तीन सप्ताह पहले हुई थी.सीएनबीसी आवाज की एक एक्सक्लूसिव रिपोर्ट के मुताबित राष्टीय केमिकल फर्टिलाइजर,नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड और फर्टिलाइजर एन्ड केमिकल त्रावणकोर लिमिटेड के साथ 8 फर्टिलाइजर कंपनियों के रणनीतिक विनिवेश की सरकार ने पूरी तैयार कर ली है .

h

सीएनबीसी आवाज के अधिकारी ने बताया की नई विनिवेश के तहत इन कंपनियों के विनिवेश करने का निर्णय सरकार ने लिया है .सार्जनिक उधम विभाग में भी इन कंपनियों के विनिवेश सिफारिश की है.राष्टीय केमिकल फर्टिलाइजर में सरकार की 75 प्रतिशत,नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड करीब 74 प्रतिष्ठ और फर्टिलाइजर एन्ड त्रावणकोर लिमिटेड में सरकार की 90 फीसदी हिस्सेदारी है 

नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड के शेयरों में मंगलवार को तेजी देखने को मल रही है.इंट्राडे में कंपनी के शेयर एनएसई पर 2.33 फीसदी की तेजी के साथ 52.70 फीसदी पर ट्रेड कर रहे है.वही फर्टिलाइजर एन्ड केमिकल त्रावणकोर लिमिटेड के शेयरों में 5 फीसदी तक चढ़ा है और एक बार यह स्टॉल 129.75 रूपये पर पहुंच गया .वही सरकार के अनुसार जिन फर्टिलाइजर कंपनियों की पहचान की है .इनमे रक्फ,नफ़्ल ,और फैक्ट के साथ 8 कंपनिया जुडी हुई है.इनके अलावा मद्रास फर्टिलाइजर्स ,फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन ऑफ इण्डिया ,हिन्दुस्थान फर्टिलाजर कॉरपरेशन को भी निवेश की लिस्ट में जोड़ा गया है। एनएफएल निम् कोटेड यूरिया और बायो फर्टिलाइजर का निर्माण करती है।