इन चीजों का भूलकर भी ना करे सेवन हो सकते है बवासीर रोग का शिकार

 
piles

बवासीर रोग को इंग्लिश में पाइल्स और हीमोराइड्स कहा जाता है जिसके अंदर गुदा व मलाशय में मौजूद नसों में सूजन आ आती है और बल निकलने की परेशानी हो सकती है बविर रोग के पीछे कब्ज की समस्या सबसे मुख्य कारण होती है इसलिए अगर आप कब्ज की समस्या से बचाव कर लेते है तप बवासीर रोग से काफी हद तक बचा जा सकता है आज हम आपको बताएंगे की कौन से फूड्स है जो कब्ज का कारण बनते है 
कब्ज की परेशानी को बवासीर रोग का मैन कारण और शुरुआत माना जाता है क्योकि कब्ज के दौरान मल निकालने में काफी परेशानी होती है जो गुदा और मलाशय की नसों व टिश्यू में सूजन पैदा कर सकती है इसलिए कब्ज का कारण बनने वाले इन फूड्स से दूर रहना चाहिए 

piles


ग्लूटेन वाले फूड्स 


ग्लूटेन वाले फूड्स कब्ज और पाइल्स का कारण बन सकते है गेंहु जौ अनाजों में ग्लूटेन नाम का प्रोटीन पाया जाता है जौ की कुछ लोगों में ऑटोइम्यून जैसी बीमारिया विकसित कर देता है इम्यून सिस्टम उनके पाचन को बुरी तरफ से नुकसान पहुंचा है इससे पहले कब्ज और फिर बवासीर रोग शुरू हो सकता है 

milk


गाय का दूध और डेयरी प्रॉडक्ट्स 


गाय का दूध सभी को पसंद होता है लेकिन गाय का दूध या उससे बने डेयरी प्रोडक्ट भी कब्ज व पाइल्स की बीमारी विकसित कर सकते है गाय के दूध में मौजूद प्रोटीन भी कब्ज पैदा कर सकते है ऐसा कई शोध से शाबित हुआ है गाय के दूध की जगह आप सोया मिल्क का सेवन कर  सकते है 


रेड मीट 


रेड मीट का सेवन भी कब्ज के कारण बनने वाले बवासीर रोग  की वजह बन सकता है क्योकि रेड मीट में ना के बराबर फाइबर होता है और इसमें फैट की मात्रा भी ज्यादा होती है जिस कारण से बॉडी में आसानी से वनहिं पच पाता है और यह इकट्ठा होकर बॉडी से निकलने में परेशानी कड़ी कर शता है बवासीर के मरीजों को इससे बिलकुल दूर रहना चाहिए 


फ्राइड और फास्ट फूड


अगर आप ज्यादा मात्रा में फ्राइड या फास्ट फूड खाते है तो आपको बवासीर की समस्या हो सकती है क्योकि रेड मीट की तरह यह फूड्स भी लो फाइबर और हाई फैट्स वाले होते है आपको इनकी जगह हरी सब्जियों फलों आदि का सेवन करना चाहिए 

alokohl


अल्कोहॉल


एल्कोहॉल बॉडी में डिहाइड्रेशन पैदा करता है जिससे कब्ज की परेशानी गंभीर हो जाती है यह कब्ज की परेशानी आगे चलकर मल को आसानी से निकलने में परेशानी पैदा करती है और बवासीर रोग हो जाता है