ब्‍लड टेस्‍ट कराएं, हमेशा रहेंगी फिट और हेल्‍दी

 
.

अगर आप पूरी तरह से हेल्‍दी हैं तो भी आपको हर साल ब्‍लड टेस्‍ट का विकल्प चुनना चाहिए।

 विटामिन-डी

यदि आपको ज्ञात हड्डी विकार या कैल्शियम को अवशोषित करने में कोई समस्या है, तो विटामिन-डी टेस्‍ट का उपयोग यह देखने के लिए किया जा सकता है कि क्या विटामिन डी की कमी आपकी स्थिति पैदा कर रही है।यह टेस्‍ट हड्डियों, फर्टिलिटी, इम्‍यून हेल्‍थ और बहुत कुछ का आकलन करने में मदद करता है। आपके ब्लड में विटामिन डी के लो लेवल की जांच के लिए विटामिन-डी टेस्‍ट का उपयोग किया जाता है ताकि स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनने से पहले आप इसका इलाज किया जा सकें। 

 थायरॉयड

थायरॉयड आपकी गर्दन के सामने एक छोटी, तितली के आकार की ग्रंथि है जो दो थायरॉयड हार्मोन्‍स थायरोक्सिन (T4) और ट्राईआयोडोथायरोनिन (T3) बनाती है। इसमें मेटाबॉलिक/थायरॉयड फंक्‍शन और संभावित ऑटोइम्‍यून डिसऑर्डर्स का टेस्‍ट होता है। स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर यह जांचने के लिए कि आपका थायरॉयड कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है और हाइपरथायरायडिज्म या हाइपोथायरायडिज्म जैसी समस्याओं का कारण जानने के लिए थायरॉयड टेस्‍ट का उपयोग करते हैं। 

आयरन

कुल आयरन, कुल आयरन बाइंडिंग क्षमता और फेरिटिन के बारे में जानना महत्वपूर्ण है। आयरन का टेस्‍ट का सबसे अधिक उपयोग यह चेक करने के लिए कि क्या आपके शरीर में आयरन का लेवल बहुत कम है जो एनीमिया का संकेत हो सकता है। विभिन्न प्रकार के एनीमिया का निदान करें। जांचें कि क्या आपके आयरन का लेवल बहुत अधिक है, जो हेमोक्रोमैटोसिस का संकेत हो सकता है।

 एचबीएआईसी

3 महीने के आपके ब्‍लड ग्‍लूकोज का टेस्‍ट करता है।  जी हां, HbA1c टेस्ट के नतीजे से किसी व्यक्ति के पिछले 3 महीने के ब्लड शुगर का पता लगाया जा सकता है।  यह टेस्ट ब्लड शुगर लेवल की जांच करने के लिए फास्टिंग और पीपी  से अलग है। यह उन टेस्ट के मुकाबले ज्‍यादा भरोसेमंद माना जाता है जिनसे सिर्फ खाने से ठीक पहले या बाद में ब्लड शुगर लेवल की जानकारी मिलती है। 

 विटामिन- बी12 + फोलेट

यह टेस्‍ट आपके ब्‍लड में विटामिन बी-12 और फोलेट के लेवल को मापता है। यह ब्रेन, ब्‍लड और नर्वस सिस्‍टम का आकलन करने में मदद करता है। आपके शरीर को सामान्य रूप से काम करने के लिए विटामिन बी -12 यानि कोबालिन और फोलेट यानि फोलिक एसिड की आवश्यकता होती है। दोनों पोषक तत्व रेड ब्‍लड सेल्‍स को बनाने और सेल्‍स के निर्माण में मदद करने के लिए डीएनए और आरएनए बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

कंप्रिहेंसिव मेटाबोलिक पैनल

इसमें आपके ब्‍लड ग्‍लूकोज, इलेक्ट्रोलाइट्स और लिवर और किडनी के कार्य का टेस्‍ट करता है।यह आपके शरीर के केमिकल संतुलन और मेटाबॉलिज्‍म (आपका शरीर आपके द्वारा खाए गए भोजन को ऊर्जा में कैसे बदलता है) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करता है। हेल्थकेयर एक्‍सपर्ट अक्सर सीएमपी का उपयोग रेगुलर ब्‍लड टेस्‍ट के रूप में करते हैं और कुछ हेल्‍‍थ कंडीशन्‍स के डायग्‍नोज, चेकअप या निगरानी में मदद करते हैं।

फास्टिंग इंसुलिन 

इंसुलिन रेजिस्टेंस के किसी भी लेवल का आकलन करता है जो ब्‍लड शुगर की गड़बड़ी, डायबिटीज या अन्य मेटाबॉलिक रोगों में योगदान कर सकता है।

 हार्मोन पैनल

किसी व्यक्ति के लक्षणों के कारण की पहचान करने के लिए अक्सर हार्मोन टेस्‍ट का उपयोग किया जाता है। देरी से ग्रोथ, मेनोपॉज, इनफर्टिलिटी, पॉलीसिस्टिक ओवरियन सिंड्रोम (पीसीओएस) और कुछ प्रकार के ट्यूमर जैसी स्थितियों का निदान करने में टेस्‍ट मददगार हो सकता है।