बवासीर -फिशर का रामबाण इलाज है यह चीजें जानिए इनके बारे में

 
PIC

पाइल्स या बवासीर एक बहुत आम समस्या है इस परेशानी से बहुत से लोग पीड़ित है यह गुदा में होने वाला रोग है इसलिए बहुत से लोग इसे छिपाने की कोशिश करते है इसमें गुदा  के बाहर या अंदर मस्से बन जाते है जिनमें मल त्याग के दौरान दर्द या खून आ सकता है एक्सपर्ट के अनुसार बवासीर और एनल फिशर के लिए कब्ज को मुख्य कारण माना जाता है कब्ज मुख्य रूप से वात दोष के असंतुलन के कारण होता है इसके बहुत से कारण हो सकते है जिनमें मन लगाकर नहीं खाना सूखे ठंडे मसालेदार तले और फ़ास्ट फ़ूड को अत्यधिक सेवन नींद नहीं पूरी होना आदि शामिल है .

PIC
गाय का दूध 
दूध प्राकृतिक लैक्सेटिव है और बच्चों से लेकर बुजुर्गो को तक लगभग सभी के लिए काम करता है प्रेग्नेंट माताओं को भी हो सकता है रात को सोते समय एक गिलास गर्म दूध लें यह ज्यादा पित्त बनने वाले लोगों के लिए सर्वश्रेष्ठ है अगर अकेला दूध काम नहीं कर रहा है तो एक गिलास दूध में गाय का घी मिला लें यह कब्ज वाले लोगों के लिए अच्छा काम करता है .

PIC
गाय का घी 
गाय का घी आपके चयापचय में सुधर करता है यह आपकी बॉडी में स्वस्थ्य वसा बनाए रखने में सहायता करता है जो की विटामिन A D E और K जैसे वसा में घुलनशील  विटामिन के अवशोषण के लिए जरुरी है भैंस के घी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए गाय का घी सभी के लिए उत्तम होता है क्योकिं यह आसानी से पच जाता है सोते समय 1 चम्मच गाय का घी या तो सोते समय या सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ लेना है .
रात भर भीगी हुई किशमिश 
काली किशमिश फाइबर से भरपूर होती है जो मल को कठोर होने से बचाती है और चिकना बनाती है किशमिश को भिगोना जरुरी है क्योकि सूखे खाद पदार्थ आपके वात दोष को बढ़ा देते है भिगोने से इन्हें पचाना आसान हो जाता है .

PIC
मेथी के बीज 
एक चम्मच मेथी के बीज रात भर भिगोकर रख दें और सुबह सबसे पहले खाएं आप सोते समय गर्म पानी के साथ एक चम्मच मेथी पाउडर भी ले सकते है यह अधिक वात और कफ वाले लोगों के लिए लाभकारी है उच्च पित्त वाले लोगों को इससे बचना चाहिए .