नवजात बच्चें नींद में क्यों मुस्कुराते है क्या उन्हें सपना आता है या पूर्व जन्म की बातें याद आती है ,असली वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

 
PIC

छोटे बच्चे कभी कभी नींद में हंसते या मुस्कुराते है क्या उनको कोई सपना आता है या पूर्व जन्म की बाते याद आती है बड़े बुजुर्गों से यह कहते हुए सुना है की पूर्व जन्म की बातें याद कर बच्चे नींद में मुस्कुराते है 
नवजात बच्चों द्वारा नींद में मुस्कुराना बहुत ही आम बात है बच्चे की मुस्कान ख़ुशी जैसी किसी अच्छी भावना का प्रतीक होती है जबकि कुछ रिसर्च के अनुसार कहा जाता है की ये मुस्कान किसी वास्तविक एक्सप्रेशन के बजाय सिर्फ एक रिफ्लेक्स होता है 

PIC
न्यू बोर्न बेबी किसी बहरी स्टिमुलेशन के कारण नहीं मुस्कुराते है वे किसी विशेष दिमागी मूवमेंट की वजह से नींद में हंसते है रैपिड आई मूवमेंट की वजह से सपने देखते और अपने सपने की रिएक्शन की वजह से बच्चे मुस्कुराते है 
इंसानों में दो तरह की स्लिप साइकिल होती है एक REM यानि रैपिड आई मूवमेंट और दूसरी NREM यानि नॉन रैपिड आई मूवमेंट हर रात इन स्टेज से गुजरता हे जिससे धीरे -धीरे नींद का अनुभव होने लगता हे 
जानकारी के अनुसार नवजात बच्चों में यही नींद की साइकिल आरईएम स्टेज शुरू होती हे आमतौर पर बच्चे दिन में 16 से 18 घंटे सोते है क्योकि उनमें स्लिप वीक साइकिल यानि सोने जागने का रूटीन नहीं होता है क्योकिं नवजारत बच्चा अधिक REM नींद का अनुभव करते है इसलिए इन्वॉलन्टरी मूवमेंट्स के रिफ्लेक्स  के रूप में बच्चा ज्यादा मुस्कुराते है 

PIC
इसके अलावा नवजात बच्चों में भावनाओं का विकास जैसे नींद से जागने परबच्चा नई आवाजें सुनता है और कई चीजें देखता है इसलिए बच्चे के आसपास जो कुछ भी होता है दिमाग में उसकी जानकारियां  रिकॉर्ड हो सकती है जो नींद के दौरान प्रोसेस होने लगती है बच्चे इस तरह के इमोशंस विकसित होने पर मुस्कुराते  है 
नींद में बच्चे गैस पास करने पर भी मुस्कुराते है क्योंकि गैस पास करने पर उनको आराम मिलता है और वह रिलेक्स फील करते है कुछ मामलों में बच्चें दौरे पड़ने की वजह से भी नींद में हंसने लगते है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए