देश की सबसे खूबसूरत IAS की सूचि में शामिल है स्मिता सभरवाल, महज 23 साल की उम्र में पहुंची करियर के उच्च मुकाम पर

 
zcz

राजस्थान कैडर की IAS अधिकारी टीना दबी अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर के अक्सर सुर्खियों में बनी रहती है। टीना की सोशल मीडिया के ऊपर अच्छी खासी फैंस फॉलोइंग है। लोग उनसे जुडी हुई अपडेट पाने के लिए काफी उत्सुक रहते है। टीना भी फैंस के साथ में अपनी लाइफ से जुड़ीं हुई अपडेट शेयर करती रहती है। लेकिन आज हम IAS अधिकारी के बारे में बात करने जा रहे है जो टीना की तरह ही लोगो की बीच काफी फेमस है। ये अधिकारी अपनी खूबसूरती को लेकर के चर्चा में छाए रहते है। तो आइए जानते है। 

23 साल की उम्र में बनी IAS 
आज इस आर्टिकल में हम जिस आईएएस अधिकारी की बात कर रहे हैं उन्हें पीपल्स ऑफिसर भी कहा जाता है। यह महज 23 साल की उम्र में आईएएस बन गई थी। इनका नाम स्मिता सभरवाल ह।  स्मिता सभरवाल ने एक आईएएस अधिकारी के रूप में अपने अनुकरणीय कार्य से कई प्रशंसा अर्जित की है। वह पूरे देश में आईएएस उम्मीदवारों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गई है.।आपको बता दें, स्मिता 2000 बैच की आईएएस टॉपर है। उन्होंने इस समय और पुरे इंडिया में चौथी रैंक हासिल की थी। 

आपको बता दें इस स्मिता सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी कर्नल पीके दास और पूर्वी दास की बेटी है। मूल रूप से वह दार्जिलिंग की रहने वाली है और उन्होंने 9वीं कक्षा से हैदराबाद में पढ़ाई की। उन्होंने अपनी 12वीं सेंटेंस मैरेडपल्ली हैदराबाद से पूरी की। उन्होंने अपनी 12वीं कक्षा में प्रथम स्थान हासिल किया था। 

इसके बाद उन्होंने सेंट फ्रांसिस कॉलेज फॉर वूमेन से बीकॉम किया। स्मिता पहली बार आईएएस एग्जाम के पहले प्रयास में नाकाम रही। 2000 में उन्होंने दूसरी बार एग्जाम दिया इस बार उन्होंने ना सिर्फ परीक्षा पास की। बल्कि छोटी रेंज भी हासिल की इस दौरान उनकी उम्र महज 23 साल थी। 

स्मिता ने इसके बाद तेलंगाना कैडर के आईएएस की ट्रेनिंग ली। वह चित्तूर में सब कलेक्टर चाहिए इसके अलावा वह कडप्पा रूरल डेवलपमेंट एजेंसी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर वारंगल की नगर निगम कमिश्नर और करनाल की संयुक्त कलेक्टर रही है। 

स्मिता की जहां -जहां पोस्टिंग हुई उन्होंने लोगों के दिल में खास जगह बना ली। उनकी इमेज जनता की अधिकारी वाली बन गई अपने कार्यकाल के दौरान स्मिता कई बड़ी-बड़ी जिम्मेदारियां संभाली है। उन्होंने तेलंगाना राज्य में किए गए कई सारे सुधारों के लिए भी जाना जाता है। मुख्यमंत्री कार्यालय में नियुक्त होने वाली पहली महिला आईएएस अधिकारी भी है। वर्तमान में वह तेलंगाना के सीएम की सचिव है वह सचिव ग्रामीण जलापूर्ति विभाग और मिशन भागीरथ के रूप में अतिरिक्त प्रभार भी संभालती है। also read : क्या इस बार बजट में इनकम टेक्स स्लेब में छूट मिलेगी ?? जानिए एक्सपर्ट की राय