अगर आपकी हड्डियों से भी आती है आवाज तो हो जाए सावधान,हो सकता है इस बीमारी का खतरा

 
h

आजकल सेहत से जुडी कई समस्या रहती है।इनमे से हड्डियों से जुडी परेशानी ज्यादा रहती है।कई लोगो को उठते या बैठते समय हड्डियों के चटकने की आवाज आती है।यह हड्डियों की कमजोरी की निशानी है।अक्सर लोगो के उठते या बैठते समय घुटने ,एडी या अन्य जोड़ो से चटकने की आवाज आती है। वही हड्डियों के चटकने को क्रेपिटस कहते है। कई बार ये घुटनो या हड्डियों के रोग से पीड़ित लोगो में से आवाज आना परेशानी की शुरुआत का संकेत है। इसलिए इसे अनदेखा करना भारी पड़ सकता है।कई बार यह आवाज हमारे जोड़ो के बाहर स्थति मसल्स के लिगामेंट्स या टंडन की रगड़ के कारन से भी होने लगती है। इसे नजर अंदाज करना खतरना हो सकता है। 

g

घुटनो या जोड़ो से कट कट आवाज आने की समस्या ज्यादातर उम्र दर्ज लोगो को होती है। इस समस्या का कारण घुटने का सरफेस चिकना होने की जगह खुरदरा हो जाता है। कार्टिलेज के किसी भी कारण से खुरदरा होने पर घुटनो से इस तरह की आवाज आती है हड्डियों के बिच की चिकनाई खत्म होने के कारण से आवाज आती है।यह बीमारी गठिया से भी जुडी हुई है।ऐसे मे इसे नजरअंदाज नहीं करे। इससे जोड़े या घुटने क्षत्रिग्रस्त हो सकते है। इसके कारण चलने फिरने में समस्या हो सकती है 

अक्सर यह बीमारी ज्यादा उम्र के बाद ही देखने को मिलती है ,लेकिन कभी कभी उम्र के लोगो को भी इस समस्या से जूझना पढता है। इस समस्या की सबसे कॉमन वजह बढ़ती उम्र और वजन का ज्यादा होना है।कम उम्र के लोगो को यह परेशानी ज्यादा वजन होने के कारण से भी होती है। वजन बढ़ने के साथ कैल्शियम कीकमी से भी हड्डियों मै कमजोरी और घुटनो व् जोड़ो के चटकने की आवाज आती है। 

g

ऐसे में इस परेशानी से बचने के लिए सबसे जरुरी होता है वजन का बीएमआई के अनुपात में होना। बीएमआई का सही अनुपात होने पर इस परेशानी के होने का खतरा कम हो जाता है।इसके अलावा नियमित एक्सरसाइज,अच्छी डाइट लेना,वजन कंट्रोल रखने से इस परेशानी से बच सकते है।अपनी डाइट में कैल्शियम युक्त चीजे शामिल करे जिससे हड़िया मजबूत हो सके। जिससे इस परेशानी से बचे रह सके।