National Youth Day 2023 : स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार आज भी युवाओं के लिए है प्रेरणा स्त्रोत, बदल देते है किस्मत

 
 vbvb

स्वामी विवेकानंद को धर्म और आध्यात्मिकता से विशेष लगाव था। उन्हें धर्म-दर्शन, इतिहास, कला, सामाजिक विज्ञान और साहित्य का ज्ञाता कहा जाता है। वह एक ऐसे ओजस्वी महापुरुष थे जिनकी वाणी और मूल मंत्र आज भी युवाओं के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। 

उन्होंने देश के युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए जो बातें कही थी वह आज भी याद की जाती है। शायद यही वजह है कि हर साल स्वामी विवेकानंद की जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 में बंगाल के कोलकाता शहर में हुआ था। उन्होंने राष्ट्र के प्रति समर्पण और स्वाभिमान  का भाव था। उनके द्वारा कही गई बातें - ''यह संसार कायरों के लिए नहीं है आप का संघर्ष जितना बड़ा होगा जीत भी उतनी बड़ी होगी''।  ''जिस दिन आप के मार्ग में कोई समस्या नहीं आए समझ लेना आप गलत मार्ग पर चल रहे हो''।  जैसे स्वामी जैसी बातें स्वामी विवेकानंद द्वारा कई परिवर्तित प्रेरक मंत्र को युवा जागरण का प्रतीक माना जाता है। 

युवा दिवस
स्वामी विवेकानंद की जयंती के दिन यानी 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस के तौर पर मनाया जाता है। इसका कारण यह है कि स्वामी विवेकानंद ने कई मौकों पर अपने अनमोल और प्रेरणादायक विचारों से युवाओं को प्रोत्साहित किया है। स्वामी जी की जयंती को युवा दिवस मनाए जाने की घोषणा तत्कालीन भारत सरकार द्वारा 1984 में की गई थी। इसके बाद से ही हर साल 12 जनवरी के दिन राष्ट्रीय युवा दिवस के रुप में मनाया जाता है। also read : 
क्या आप भी जानते है ठंड में नहाने के तरीके से भी हो सकता है हार्ट अटेक,जानिए

स्वामी विवेकानंद के मूल मंत्र
उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक तुम मेल कोई लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाए। 
हमारा कर्तव्य है कि हर संघर्ष करने वाले को प्रोत्साहित करना ताकि वह अपने सपने को सच कर सके और उसे जी सके। 
जब तक तुम खुद पर भरोसा नहीं कर सकते तब तक खुद पर या भगवान पर भरोसा नहीं कर सकते। 
यदि हम भगवान को इंसान और खुद में नहीं देख पाने में सक्षम है तो हमें उसे ढूंढने कहां जा सकते हैं। 
जितना हम दूसरों की मदद के लिए सामने आते हैं और मदद करते हैं उतना ही हमारा दिल निर्बल होता है ऐसे ही लोगों में ईश्वर होता है।