राजस्थान के इन इलाको में पानी बना जहर,लोग हो रहे है बीमार

 
g

अक्सर सुना जाता है जल ही जीवन है ,लेकिन राजस्थान के कई इलाको में पानी लोगो के जीवन पर खतरा बनकर मंडरा रहा है।वहा का पानी उनकी सेहत खराब कर रहा है।यहाँ के पानी में नाइट्रेट फ्लोराइड और टोटल डिजाल्व्ड सॉलिड की मात्रा ज्यादा पाई गयी है।खबरों के अनुसार इस दूषित पानी का असर अब लोगो के सेहत पर हो रहा है। also read : इस सब्जी के बीज बेहद स्वादिष्ट,सेहत के लिए बेहद लाभदायक,जाने बनाने का तरीका

रिपोर्ट के अनुसार शेखावटी जिले के 65 साल की एक वृद्ध महिला ने बताया की पिछले कई साल से वह घुटने और कमर के दर्द से परेशान है। उनका दर्द इतना ज्यादा है की न तो वह कोई काम नहीं कर पाती है और न ही ठीक से खड़ी हो पाती है।ऐसा नहीं है की उन्होंने इलाज नहीं करवाया ,उन्होंने बताया की वह इलाज के लिए जयपुर सीकर,फतेहपुर शेखावटी के हॉस्पिटल के चक्कर कई बार लगा चुकी है।लेकिन फिर भी हाल ऐसा है की बिना दवाओं के तकलीफ बढ़ जाती है।उनकी इस भारी परेशानी के कारण वह कुछ और नहीं बल्कि पानी है।जिसे वह सालो से पीती आ रही है।उनके पिने के पानी में फ्लोराइड है। 

g

यह परेशानी सिर्फ वृद्ध महिला के साथ नहीं है ,बाकि लोगो का भी यही हाल है।पायरिया,दांत पिले होना,बाल झरना या सफेद होने चरम।कम उम्र में बूढ़ा दिखना।ये इस इलाके की आ स्वास्थ्य से जुडी शिकायत है।इसके अलावा कई किसान पिछले साल से वह दर्द झेल रहे है।ऐसे में दवाई ही उनका एकमात्र सहारा है।इसको लेकर अस्पताल कर्मचारी ने बताया की इन परेशानियों से बचने के लिए कैल्शियम की टेबलेट देते है।इसके अलावा विटामिन सी युक्त फल खाने की सलाह देते है।हर किसी के पास आरओ की सुविधा नहीं है,इसलिए पानी को उबाल कर पिने की सलाह देते है। 

साल 2022 के बाद से ये पहला मौका है जब राज्य में इस तरह का सर्वे कराया गया है।ये सर्वे बता रहा है की अगर पानी की गुणवत्ता को सुधारना है तो राज्य सर्कार को खास तोर पर इन 11 इलाको की निभृता ग्राउंड वाटर से खत्म करनी होगी।इसकी जगह पाइप के जरिये साफ पानी आम जनता तक पहुँचाना होगा।अगर ऐसा नहीं हुआ तो लोग दूषित पानी पीकर इस तरह की बीमारियों से जोहते रहेंगे।