यूएई सरकार ने किए ट्रैवल गाइडलाइंस में बदलाव, यदि नहीं है पासपोर्ट में यह जानकारी तो नहीं जा सकते आप यूएई

 
.

अगर आप या आपका कोई जानने वाला जल्द ही यूएई जाने की तैयारी कर रहा है तो यह जानकारी आपके लिए बेहद जरूरी है। यूएई सरकार ने ट्रैवल गाइडलाइंस में बदलाव किया है।यूएई सरकार के मुताबिक, सभी यात्रियों के पासपोर्ट पर फर्स्ट और लास्ट दोनों नाम स्पष्ट होने चाहिए। 21 नवंबर से यूएई ने भी यह नया नियम लागू कर दिया है। यूएई सरकार के हवाले से एयरलाइंस कंपनी इंडिगो की ओर से भी बयान जारी किया गया है।इंडिगो ने एक बयान में कहा कि, "यूएई प्रशासन के निर्देश के अनुसार, जिन यात्रियों के पासपोर्ट पर एक ही नाम है, चाहे वे पर्यटक हों या किसी वीजा पर, उन्हें यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।"

.

यह छूट स्थायी वीजा धारकों के लिए रहेगी

हालांकि, अगर किसी के पास स्थायी यूएई वीजा है, तो उन्हें यात्रा करने की अनुमति की आवश्यकता होगी, लेकिन इसके लिए उन्हें पहले और अंतिम दोनों कॉलम में एक ही नाम लिखकर पासपोर्ट अपडेट करवाना होगा।

यूएई सरकार द्वारा नई घोषणा होते ही कई लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, यूएई प्रशासन के निर्देश मिलते ही कई एयरलाइंस कंपनियों ने पासपोर्ट पर एक ही नाम वाले यात्रियों को देश से बाहर जाने की इजाजत दे दी है।ऐसे में कई भारतीय नागरिकों को यूएई से नहीं आने दिया जा रहा है।वहीं, नए नियम लागू होते ही ट्रैवल एजेंट लोगों से वीजा के लिए आवेदन करने से पहले अगले अपडेट का इंतजार करने को कह रहे हैं।

.

वीजा के लिए आवेदन करने से पहले 48 घंटे प्रतीक्षा करें

रैना टूर एंड ट्रैवल्स ने बताया कि हम दूतावास से जानकारी मिलने का इंतजार कर रहे हैं। इसलिए हम लोगों को सलाह दे रहे हैं कि वीजा के लिए आवेदन करने से पहले 48 घंटे इंतजार करें।

यूएई सरकार के नए फैसले के बाद खलबली मचना लाजमी है। यूएई से बड़ी संख्या में भारतीय लोगों का आना-जाना लगा रहता है। ऐसे में किसी भी तरह का अचानक बदलाव कई तरह की परेशानियां खड़ी कर देता है।

.

खास सलाह

भारतीय एयरलाइन कंपनियां भी यूएई जाने वाले यात्रियों को खास सलाह दे रही हैं। इंडिगो के अलावा, एयर इंडिया एक्सप्रेस और स्पाइसजेट ने यात्रियों को सलाह दी है कि वे यात्रा से पहले सुनिश्चित करें कि उनके पासपोर्ट पर नाम नए नियम के अनुसार है।