दुनिया की सबसे लंबी ट्रेन में एक भी नहीं है सीट ,जानिए लोग कैसे करते है इसमें सफर

 
PIC

दुनिया में कई देशों की ट्रेन अपने यात्रा के लिए जानी जाती है कुछ ट्रेन खूबसूरत सफर कराती है तो कुछ डरावना अनुभव भी देकर जाती है मॉरीतानिया देश में भी एक ऐसी ट्रेन चलती है जिसमें सफर करने के लिए आपको अपनी जान की बाजी लगानी पड़ सकती है मालगाड़ी भी इसी तरह की ट्रेन में शामिल है जिसमें सफर करना आसान नहीं होता है इस ट्रेन में न तो यात्रियों के लिए सीट्स होती है और न ही टॉयलेट इसलिए इसका सफर और ज्यादा परेशानी आमंत्रित करने वाला हो सकता है 

PIC
यह ट्रेन अफ़्रीकी देश में चलती है और इसे 1963 में शुरू किया गया था इस ट्रेन का नाम ट्रेन दू डेजर्ट है और 20 घंटों में लगभग 704 किलोमीटर तक का सफर तय कराती है सहारा रेगिस्तान से जाने वाली इस ट्रेन की लंबाई लगभग 2 किलोमीटर है 

PIC
200 से ज्यादा डिब्बों वाली इस ट्रेन में एक डिब्बा यात्रियों के लिए है लेकिन  इस ट्रेन में सफर करना बच्चों का खेल नहीं है ट्रेन में सफर करने के लिए लोगों को कच्चे लोहे के ऊपर बैठना पड़ता है क्योकि ट्रेन में एक भी सीट नहीं है लेकिन इस ट्रेन से सफर करने में जितना समय लगेगा वो 500 किलोमीटर के रोड सफर से कम होता है और लोगों को अपने स्थान तक पहुंचने के लिए लंबा रास्ता तय नहीं करना पड़ता है ज्यादातर लोग अपने काम पर जाने के लिए या फिर दूर रहने  वाले रिलेटिव से मिलने के लिए इस ट्रेन का इस्तेमाल करते है