इम्युनिटी बढ़ाने के लिए दाल से बनी इन डिशेज का करें सेवन ,स्वाद और पोषण से हे भरपूर

 
daal

दाल हमारी रोजाना के भोजन का एक अभिन्न घटक है क्योंकि हर दिन दाल से बनी कम से कम एक डिश हमारी थाली में परोसी जाती है शाकाहारी खाने के लिए प्रोटीन का अहम और सस्ता स्त्रोत है दालें और बिन्स है वहीँ नॉन वेजिटेरियन डाइट लेने वालों क लिए भी दाल कि दीवानगी कुछ कम नहीं है तड़के वाली दाल दाल फ्राई और सब्जियों के साथ मिलकर पकाई जाने वाली सुखी दाल या राजमा छोले जैसी चटखारे दाल डिशेज जहां लोगों के पोषण और स्वाद का ख्याल रखती है वही कई लोग ऐसे भी जिनको दाल खाना पसंद नहीं होता है ऐसे लोगों के लिए दाल में पाए जाने वाले विभिन्न पोषक तत्वों जैसे जिनक आयरन और प्रोटीन कि पर्याप्त खुराक दिलाने के लिए दाल के कुछ टेस्टी डिशेज ट्राई कर सकते है आज हम आपको दाल से बनने वाली कुछ डिशेज बताएंगे यह डिशेज स्वादिष्ट होने के साथ -साथ काफी हेल्दी भी है 

tikki


टिक्की 


कुरकुरी आयलु की टिक्की या फ्लेवर से भरपूर साबूदाने की टिक्की का स्वाद भला किसे नहीं भाता इसी तरह दाल की टिक्कियां भी बनाई जा सकती है जो प्रोटीन फाइबर और कई माइक्रोन्यूट्रिएंट्स का वेजिटेरियन स्त्रोत है मुंग दाल चने की दाल या नॉर्मल हरी साबुत मुंग को उबालकर उनमें पसंद के अनुसार मसले और सब्जियां मिलाएं और इनकी टिकियाँ बनाकर बर्गर या दही के साथ खाएं 


ढोकला 


गुजरात का फेमस नाश्ता ढोकला बहुत ही हेल्दी और स्वादिष्ट फ़ूड माना जाता है फर्मेटेड बेसन मसलों और राई-करी पत्ते जैसे मसलों के गुणों से भरपूर ढोकला दिन में किसी भी समय खाया जा सकता है लेकिन बेसन की जगह ढोकला बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की दालों का उपयोग किया जाता है

chila

 
चीला 


दाल से बने स्वादिष्ट चीले का स्वाद न केवल मूड बेहतर बनता है बल्कि सुबह या शाम के नाश्ते में खाने के लिए चीला एक बेहतरीन फूड है चीला बनाने के लिए अपनी पसंद की दालों को भिगोकर पीस लें और उनमें हरी मिर्च जीरा ,कला नमक टमाटर पनीर मिलाकर चीला बनाएं यह डिश बच्चों के टिफिन के लिए बेहतरीन ऑप्शन है 
डालें प्लांट बेस्ड प्रोटीन का सबसे अच्छा स्त्रोत है प्रोटीन मसल्स के विकास में फायदेमंद है और बॉडी के वेट को कंट्रोल करने में सहायता करता है दालों में एमिनो एसिड ,आयरन ,पोटेशियम विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते है दाल का सेवन करने से इन सभी पोषक तत्वों का फायदा बॉडी को मिलता है जिससे कमजोरी दूर होती है इम्युनिटी बढ़ती है और हड्डियां मजबूत बनती है