भारतीय टीम के रोहित और राहुल के स्ट्राइक रेट में आती है इतनी ज्यादा गिरावट,विराट भी हो जाते है धीमे

 
g

आज क्रिकेट को पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है टी 20  क्रिकेट में भारतीय बल्लेबाज तेज गेंदबाजो को तो अच्छा खेल रहे है लेकिन स्पिंग गेंदबाजी के समाने उनकी हालत पतली हो रही है। रोहित शर्मा और केएल राहुल के स्ट्राइक रेट में तो गेंदबाजों की तुलना में 25 % से ज्यादा की गिरावट आ गयी है। 

g

भारतीय टीम के बल्लेबाज केएल राहुल और रोहित शर्मा का स्ट्राइक रेट टी 20 वर्ल्ड कप के बाद स्पिनरों के खिलाफ आप जान लेंगे तो आप यकीन नहीं कर पाएगे। एक तरफ जहा तेज गेंदबाजों के खिलाफ केएल राहुल का स्ट्राइक रेट 126 का है वही स्पिन गेंदबाजों के समाने उनके स्ट्राइक रेट गिरकर सिर्फ 86.11 का हो जाता है। ऐसा ही हाल टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा का है।रोहित ने 2021 की टी 20 वर्ल्ड कप के बाद तेज गेंदबाजों की जमकर क्लास लगायी है और उनका स्ट्राइक रेट उनके खिलाफ तो 156.72 का है लेकिन जब बात स्पिन गेंदबाजों की आती है तो वह बिल्कुल बेबस दिखाई देते है। इन दोनों से बेहतर विराट कोहली भी स्ट्राइक रेट है लेकिन वो भी काफी धीमे है। 

एक तरफ जहा साऊथ अफ्रीका,इग्लेंड,ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बल्लेबाज स्पिन गेंदबाजों की स्वीप और रिवर्स खेलते दिखाई देते है तो वही एशिया के ज्यादातर बल्लेबाज इसे खेलना ही भूल गए है।भारत के टॉप बल्लेबाज को हो देख लीजिये रोहित और राहुल दुर्लभ ही ये शॉट स्पिन गेंदबाजों क खिलाफ खेलते हे। दोनों स्पिन गेंदबाजों को सीधे बल्ले से खेलने पर जोर देते है। 

h

वही क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में बल्लेबाजी को स्पिन के खिलाफ अपना स्ट्राइक रेट बेहतर करना है तो उन्हें अलग अलग तरह के शॉट खेलने की कोशिश करनी होगी। नहीं तो जहा स्पिन के खिलाफ एशिया के बल्लेबाज का बोलबाला रहता था। वह अब रह और मुश्किल हो जाएगी।