एक बार चार्ज करने पर 160KM तक उड़ेगा, इलेक्ट्रिक हवाई जहाज

 
.

एक बार चार्ज करने पर यह 160 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकेगी। इसे छोटी दूरी की यात्राओं में यूज किया जा सकता है। एक बार में यह 445 किलोग्राम वजन लेकर उड़ सकेगा । इस इलेक्ट्रिक एयरोप्लेन को रिचार्ज करने में सिर्फ 10 मिनट का वक्त लगता है।

 इलेक्ट्रिक हवाई जहाज 

 ई-हवाई जहाज बनाने के लिए मल्टी ब्रांड ऑटोमोटिव कंपनी स्टेलेंटिस और यूएस स्टार्टअप आर्चर एविएशन एक साथ आ रहे हैं। वह दिन दूर नहीं जब छोटी दूरी के लिए इन इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर यह योजना धरातल पर उतरी तो महंगे फ्यूल से काफी हद तक छुटकारा मिल जाएगा। क्योंकि फ्लाइट्स में यूज किया जाने वाला फ्यूल काफी महंगा होता है। अब तक आप इलेक्ट्रिक कार, बाइक और अन्य वाहनों की डिमांड बढ़ते देख रहे होंगे लेकिन अब इलेक्ट्रिक हवाई जहाज  भी आने जा रहा है। 160KM की रेंज, 5 यात्री कर सकेंगे सफर।  इसकी रेंज कार की तरह होगी। एक बार चार्ज करने पर यह 160KM तक जाएगी। लेकिन इसका यूज छोटी दूरी की उड़ानों 32 किमी तक के लिए किया जाएगा।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगले साल 2024 से दोनों कंपनियां इलेक्ट्रिक हवाई जहाज बनाने का काम शुरू कर देंगी। यह एयरोप्‍लेन 445 किलोग्राम वजन लेकर उड़ सकेगा। इसका मतलब पायलट समेत 5 यात्री एक साथ सफर कर सकेंगे। सिर्फ 10 मिनट में ही यह बैटरी रिचार्ज हो जाएगी। 


ई-एयरोप्लेन को लेकर प्लान

 दोनों ही कंपनियों का लक्ष्‍य अर्बन एयर मोबिलिटी में कुछ बेहतर करने का है। दोनों नए एयर मोबिलिटी व्हिकल को जल्‍द से जल्‍द मार्केट में लाना चाहती है।इस ई-एयरोप्लेन को लेकर बात की जाए तो स्टेलेंटिस जॉर्जिया के कोविंग्टन में मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी बनाने के लिए दोनों कंपनियां प्लान कर रही है। 2024 में मिडनाइट एयरक्राफ्ट का उत्पादन शुरू हो जाएगी। आर्चर eVTOL के इलेक्ट्रिक प्रोपुलेशन जैसी टेक्नोलॉजी पर काम करेगी। वहीं, स्‍टेलेंटिस अपनी निर्माण तकनीकों और एक्‍सपर्टाइज का यूज इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट के निर्माण में करेगी। दोनों कंपनियां 2020 से ही रणनीतिक सहयोग पर काम कर रही है। 2021 में स्टेलेंटिस ने भी आर्चर में इनवेस्ट किया था। एक और कंपनी बना रही ई-एयरक्राफ्ट, ALIA सीरियस एक्सएम के संस्थापक मार्टीन रोथब्लैट और हार्वर्ड-शिक्षित इंजीनियर काइल क्लार्क ने इस एयरोप्लेन को बनाया है।इधर, एक दूसरी कंपनी बीटा टेक्नोलॉजीज भी इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट बना रही है। कंपनी का ड्रोन जैसा दिखने वाला ALIA प्लेन बन चुका है। यह विमान 1,400 पाउंड कार्गो या 6 लोगों को एक साथ ले जा सकती है।