Ford Motors इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के उत्पादन के लिए योजना बना रही है ,कई लोगों की नौकरी पर मंडरा रहे है खतरे के बादल

 
pic

Ford Motor अपने इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट का विस्तार करने की योजना बना रही है बुधवार को कंपनी ने बताया की वह इस दशक के अंत में स्पेन में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का उत्पादन शुरू कर देगी लेकिन इस कदम से कंपनी को नौकरियों में कमी करनी होगी इसके लिए कंपनी अपने स्पेनिश कारखाने और जर्मनी कारखाने में काफी संख्या में नौकरी में कमी करेगी 

pic
Ford ने पहले ही चेतावनी दी थी कि इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन संख्या में बदलाव से कंपनी को कर्मचारियों की संख्या में कटौती करना होगा क्योकि इलेक्ट्रिक कारों को बनाने के लिए कम समय तक काम करने की जरूरत होती है अभी फोर्ड के वालेंसिया प्लांट में लगभग 6000 लोग काम करते है और सारलुइस (जर्मनी) में लगभग 4600 लोग काम कर रहे है अब कंपनी के इस बयान के बाद इन सभी कर्मचारियों की नौकरी पर खतरा मंडरा रहा है 
फोर्ड ने अपनी EV स्किम के लिए पहले ही विभिन्न प्लांट साइट्स को तलाशना शुरू कर दिया था अमेरिका स्थित कार निर्माता ने एक बयान में बताया है कि उसने वालेंसिया में स्थित अपने प्लांट कि अगली पीढ़ी के इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता के लिए फेवरेट साइट के रूप में चुना है कंपनी के एक प्रवक्ता ने रॉयटर्स को इस बात कि पुष्टि कि है कि अपने प्लान के लिए स्पेन के बाद अन्य दावेदार जर्मनी के सारलुइस में फोर्ड का प्लांट था जो साल 2025 तक अपनी फोकस पैसेंजर कार का उत्पादन जारी रखेगा इसके बाद कार का प्रोडक्शन बंद कर दिया जाएगा इसके अलावा प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी इन साइटों से भविष्य में मिलने वाले अवसरों का मूल्यांकन भी कर रही है 

pic
कंपनी द्वारा 2025 में EV उत्पादन शुरू होने कि उम्मीद है इसके अलावा यूनियन कंपनी के साथ चर्चा भी करेगा कि EV स्किम के साथ कार्यबल का आकर कैसे बदला जाएगा इसी साल मार्च में फोर्ड ने यूरोप में 7 नए इलेक्ट्रिक मॉडल जर्मनी में एक बैटरी असेंबली साइट और तुर्की में एक निकल सेल निर्माण संयुक्त व्यवसाय कि स्किम कि घोषणा कि थी 
इंडिया में स्थित फोर्ड के प्लांट कि बात करें तो चेन्नई स्थित फोर्ड के प्लांट में लगभग 1100 कर्मचारियों ने काम फिर से शुरू कर दिया है हालांकि मजदूर संघ और मैनेजमेंट के बीच सेवा समाप्ति पैकेज पर कोई समझौता नहीं हुआ बेहतर सेवा समाप्ति मांग को लेकर पिछले 22 दिन से कर्मचारी प्रदर्शन कर रहे है