फोन नंबर से ट्रैक कर सकते है लोकेशन ,पुलिस कैसे करती है ट्रैकिंग ,जानिए पूरी डिटेल्स

 
PIC

आप किसी की लोकेशन को उसके फोन नंबर से ट्रैक करना चाहते है बहुत से लोग इस कोशिश में रहते है चाहे GF /BF की लोकेशन ट्रैक करनी हो या फिर किसी इंसान की लाइव लोकेशन जननी हो आप ऐसा उनकी मर्जी के बिना सिर्फ मोबाइल नंबर से नहीं कर सकते है बहुत से लोग ऐसे तरीकों की तलाश में गूगल के पन्नों को पलटते है लेकिन उनके हाथ ट्रैप्स ही लगते है 

PIC
अगर आप ऐसे किसी तरिके के तलाश में निकलते है तो गूगल आपको किसी भूल भुलैया की तरह इधर से उधर घूमता रहता है और आपके हाथ कोई सही तरीका नहीं मिलता है आज हम आपको मोबाइल नंबर से किसी के फोन को ट्रैप करने का तरीका बताएंगे 
पेगासस का नाम आपने सुना होगा यह एक स्पाइवेयर है जिसकी सहायता से किसी की जासूसी उसकी जानकारी के बिना की जा सकती है लेकिन यह कोई 100 या 1000 रूपये वाला सॉफ्टवेयर नहीं है इसका इस्तेमाल कई देशों की मिलिट्री और सरकारें कर रही थी हालांकि पकड़े जाने के बाद इस सॉफ्टवेयर को बैन कर दिया गया है अगर आप गूगल सर्च की सहायता लेंगे तो ऐसे कई फर्जी सॉफ्टवेयर आपको मिलेंगे  

PIC
यह सॉफ्टवेयर ना सिर्फ आपके फोन से डेटा चोरी कर सकते है बल्कि आपको गलत जानकारी भी देंगे इससे आपको ऐसा लगेगा की सॉफ्टवेयर फोन नंबर की सहायता से दूसरे यूजर्स को ट्रैक कर रहा है 
पुलिस भी किसी को ट्रैक करने के लिए उसके मोबाइल नंबर या फोन के EMI नंबर को यूज करती है इसके लिए पुलिस को टेलीकॉम कंपनी से कॉपरेट करना होता है 
टेलीकॉम कंपनी पुलिस को यह जानकारी देती है की रेकिंग पर लगाया गया नंबर किसी सेल टावर के पास एक्टिव है और कितनी दुरी पर है इससे पुलिस को अपराधियों की लोकेशन की लगभग जानकारी मिल जाती है