हवा में ही चार्ज हो जाएगा आपका स्मार्टफोन ,आ रही है नई टेक्नोलॉजी जानिए इसके बारे में

 
pic

अपने स्मार्टफोन को चार्ज करने के लिए कौनसा तरीका काम में लेते है वायर्ड चार्जर या फिर वायरलेस चार्जिंग टेक्नोलॉजी वायर्ड चार्जर में भी कई तरह के ऑप्शन मिलते है इसमें फास्ट और सुपर फास्ट चार्जिंग जैसे ऑप्शन दिए गए है अगर ऐसा हो की फोन चार्ज करने के लिए चार्जर की जरूरत नहीं हो तो क्या होगा 

pic
ऐसा हम इसलिए कह रहे है क्योंकि भविष्य में ऐसी चार्जिंग टेक्नोलॉजी आम हो जाएंगी अब तक चार्जिंग की कितने तरिके इजात होते चुके है सामान्य चार्जिंग से फ़ास्ट और फ़ास्ट से अल्ट्रा फ़ास्ट चार्जिंग तक का सफर कर चुकी चार्जिंग टेक्नोलॉजी कहां तक जाएगी 
बाजार में आपको वायरलेस चार्जर भी मिलते है लेकिन भविष्य में हो सकता है की इसमें इसकी जरूरत भी  नहीं पड़ें हम बात कर रहे है ट्रू वायरलेस चार्जर की जिसकी सहायता से चार्जिंग एक्सपीरियंस पूरी तरह से बदल जाएगा 
जैसे आप ट्रू वायरलेस ईयरफोन आज यूज कर रहे है इसी तरह से भविष्य में फोन को भी चार्ज कर सकेंगे वैसे स्मार्टफोन ब्रांड्स ने इस टेक्नोलॉजी को परिचित कर दिया है यह बाजार में मौजूद है लेकिन अभी फेमस नहीं हुई है आज हम Over The Air चार्जिंग टेक्नोलोग्य की बात कर रहे है जो आपके फोन को हवा में चार्ज कर सकती है 
साल 2021 की शुरुआत में Xiaomi और दूसरी कंपनियों ने कहा था की वह इस तरह की टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है कंपनी ने इसका डेमो भी दिया था जिसमें ब्रांड ने चार्जिंग बॉक्स में 144 एंटीना का इस्तेमाल किया था 
इसकी सहायता से mm -Wave सिंगल ट्रंसमित होता है ये सिंगल स्मार्टफोन तक 14 एंटीना की सहायता से पहुंचता है जो सिग्नल को 5W की पावर में बदलता है इससे स्मार्टफोन हवा में चार्ज होने लगता है कंपनी ने इस टेक्नोलॉजी को Mi Air Charger नाम दिया है 

pic
शाओमी कोई पहली कंपनी नहीं है जिसने ट्रू वायरलेस चार्जिंग टेक्नोलॉजी को तैयार करने की कोशिश की है Wardenclyff Tower जिसे Tesla Tower के नाम से भी जानते है इसका निर्माण Nikola Tesla ने साल 1901 में  Long आइलैंड न्यूयॉर्क में अपने एक्सपेरिमेंट के लिए किया था 
यह एक्सपेरिमेंट वायरलेस पावर ट्रांसमिशन से जुड़ा हुआ है भले ही यह टेक्नोलॉजी बाजार में आ गई होगी लेकिन लोगों ने इसे बहुत ज्यादा पसंद नहीं किया टेक्नोलॉजी हर दिन विकसित हो रही है और मौजूदा टेक वर्ल्ड हर पल पहले से बेहतर हो रहा है ऐसे में एक दिन ऐसा भी आ सकता है जब यह टेक्नोलॉजी अफोर्डेबल और आसान होगी इसके लिए कस्टमर्स को एडिशनल एक्सेसरीज की जरूरत ना पड़े और चार्जिंग स्पीड भी फास्ट हो सकती है