अगर आप भी चढ़ाते है सूर्य देव को जल,तो इन जरुरी बातो का रखे ध्यान ,होंगे कई लाभ

 
g

हिन्दू धर्म में सभी देवताओ का अपना अलग महत्व होता है .सभी देवताओ के दिन और उनकी पूजा और विधि भी अलग होते है.वही रविवार का दिन भगवान सूर्य देव का होता है.रविवार के दिन सूर्यदेव की पूजा पुरे विधि विधान से की जाती है.सूर्यदेव की नियमित पूजा करने से उनकी कृपा हमेशा बनी रहती है .सूर्य देव को जल चढ़ाने से तेज और सकारात्मक शक्ति प्राप्त होती है .लेकिन ज्योतिष के अनुसार सूर्य देव को जल चढ़ाते समय कुछ जरुरी बातो का ध्यान रखना काफी जरुरी है इन बातो का ध्यान रखने से लाभ ज्यादा होता है। तो चलिए जानते है भगवान सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए 

h

हिन्दू धर्म में अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य कमजोर है तो उसे नियमित सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए .इससे बेहद लाभ होते है.वही अगर बार बार कोशिश करने के बाद भी सफलता नहीं मिल रही है तो सूर्य देव की पूजा करने के साथ ही जल अर्पित करे ऐसा करना बेहद शुभ माना जाता है। सूर्य देव की नियमित पूजा करने और जल चढ़ाने से व्यक्ति के सारे कष्ट दूर होते है .इससे मनुष्य का मन शांत रहता है .हर दिन सूर्य देव की पूजा करने से व्यक्ति जी बुद्धि तेज होती है और घर में सुख समृद्धि का वास होता है 

h

वही ज्योतिष के अनुसार सूर्य देव को जल चढ़ाते समय ध्यान रखे की सूर्य देव को हमेशा तांबे के लोटे में ही जल चढ़ाना चाहिए .पानी में फूल ,कुमकुम और अक्षत डालना बेहद शुभ माना जाता है.सूर्य देव को जल चढ़ाते समय अपने मुँह को हमेशा पूर्व दिशा में रखे और ध्यान रखे की सूर्य जल चढ़ाते समय जीतते चप्पल नहीं पहनना चाहिए। सूर्य को जल चढ़ाते समय गिरती घर में सूर्य देव की किरणों को देखना बेहद शुभ माना जाता है।