यदि आपकी हाथ की रेखा है कुछ इस प्रकार तो जान लीजिए इस से होने वाले फायदे के बारे में

 
.

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के हाथ में स्थित रेखाओं और पर्वतों का विश्लेषण कर उसके व्यक्तित्व और भविष्य के बारे में जाना जा सकता है। आपको बता दें कि हाथ में कई पर्वत और रेखाएं प्रमुख होती हैं। जैसे- जीवन रेखा, हृदय रेखा, धन रेखा और भाग्य रेखा। इन रेखाओं से कई प्रकार के शुभ योग बनते हैं। जो इंसान को अर्श से अर्श तक ले जाते हैं। यहां हम ऐसे ही एक योग के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नाम है भास्कर योग। जिन जातकों की कुंडली में यह योग होता है वे रोगग्रस्त राजनेता और अपार धन के स्वामी होते हैं। आइए जानते हैं कैसे बनता है यह योग और इसका मानव जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है।

.

ऐसे बनता है भास्कर योग

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार यदि हाथ में सूर्य रेखा का संबंध बुध रेखा से हो। इसके साथ ही बुध रेखा का संबंध चंद्र रेखा से होना चाहिए। साथ ही यदि गुरु पर्वत और गुरु रेखा अपने आप में स्पष्ट हों तो यह योग बनता है।

.

अपार धन-संपत्ति का स्वामी बनता है

इस योग के प्रभाव से व्यक्ति जीवन में आर्थिक रूप से मजबूत रहता है। साथ ही उसे सभी भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है। वह अपार धन-सम्पत्ति का स्वामी बनता है। साथ ही ऐसे लोग उदार भी होते हैं और ये लोग अपने जीवन में बहुत कुछ दान करते हैं। ये लोग अपने दम पर जीवन में मुकाम हासिल करते हैं। ये लोग अपने करियर के प्रति ईमानदार भी होते हैं। ये लोग कला प्रेमी भी होते हैं। इन लोगों की आय के साधन अनेक हो सकते हैं। समाज में उनकी अपनी पहचान है। साथ ही ये दयालु और दूरदर्शी भी होते हैं।

.

बड़ा राजनेता बन रहा है

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जिस व्यक्ति के हाथ में यह योग होता है। सूर्य देव के प्रभाव से वह एक महान राजनीतिज्ञ बनता है। लोग उनका सम्मान करते हैं। साथ ही वह समाज कल्याण के लिए कई काम करता है। वहीं ऐसे लोगों के दोस्तों का दायरा काफी बड़ा होता है। ये लोग बातचीत में भी माहिर होते हैं और पहली मुलाकात में ही लोग प्रभावित हो जाते हैं।