Makar Sankranti 2023 : यहाँ जानिए इस साल किस दिन है मकर सक्रांति का पर्व और दान पुण्य का सही मुहूर्त

 
vbv

हिन्दू धर्म में मकर सक्रांति का खास महत्व माना जाता है। एक साल में कुल 12 संक्रांतियां आती है लेकिन इनमे से मकर सक्रांति का खास महत्व होता है। इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते है। इस दिन भगवन सूर्य की पूजा अर्चना की जाती है। यह माघ मास का प्रथम दिन होता है। मकर सक्रांति पर सूर्य अपनी उत्तरायण यात्रा शुरू करते हैं। यही कारण है कि इसे उत्तरायण भी कहा जाता है। मकर सक्रांति का पर्व पूरे देशभर में धूम धाम के साथ में मनाया जाता है। इस दिन स्न्नान और दान का खास महत्व होता है। मकर सक्रांति के दिन क्या करना चाहिए और नहीं आइए जानते है। 

मकर संक्रांति 2023 कब है?
ऐसे तो मकर सक्रांति का त्यौहार 14 जनवरी को मनाया जाता है। लेकिन इस बार उदयातिथि के अनुसार मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा।

सूर्य मकर राशि में करेंगे प्रवेश 
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य 14 जनवरी को रात 8 बजकर 21 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इस कारण से मकर सक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। 

मकर संक्रांति 2023 का शुभ मुहूर्त
मकर संक्रांति का पुण्य काल सुबह 07 बजकर 15 मिनट से शुरू होगा, जोकि शाम 07 बजकर 46 मिनट पर समाप्त होगा।

मकर संक्रांति 2023 पर ग्रहों की स्थिति
इस बार मकर सक्रांति के ऊपर एक खास योग बन रहा है। 14 जनवरी को सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे। और इस राशि में पहले से ही बुध और शनि विराजमान है। 

मकर सक्रांति का पर्व 
मकर सक्रांति के शुभ मुहूर्त में स्नान, दान व पुण्य का विशेष महत्व है। इस दिन लोग गुड़ और तिल लगाकर किसी पावन नदी में स्नान करते है। भगवान सूर्य को जल अर्पित करते है। इस दिन पतंग भी उड़ाई जाती है। इस पर्व को खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है। also read : 
साल 2023 की पहली पुत्रदा एकादशी सोमवार को,विष्णु जी के साथ शिव पूजा करे