Pitru Paksha: पितृ पक्ष में इन पेड़ों की पूजा करने से खुश होंगे पितृ ,खुल जाएंगे उन्नति के रास्ते

 
pic

पितृ पक्ष की शुरुआत 10 सितंबर से हो चुकी है इस दौरान विधि -विधान से पितरो का श्राद्ध किया जाता है पितृ पक्ष में पिंडदान,दान करने से पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है इसके अलावा भी लोग पितरों को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद पाने के लिए कई तरह के उपाय करते है माना जाता है की पितरों को खुश करने से घर में सुख -समृद्धि आती है और पितृ दोष दूर होते है पितृ पक्ष के दौरान कुछ पेड़ों की पूजा करना शुभ माना जाता है। 

pic
पितरों को प्रसन्न करने के लिए कुछ पेड़ों की पूजा करना बहुत ही शुभ माना जाता है इन पेड़ों की पूजा करने से उन्नति के द्वार खुलते है और सफलता प्राप्त होती है जिन पेड़ों की पूजा करनी चाहिए उनमें बरगद का पेड़   पीपल का पेड़ बेल का पेड़ शामिल है। हिन्दू धर्म में पेड़ों की पूजा का काफी महत्व है व्रत -त्यौहार उपवास और यहां तक की श्राद्ध में भी पेड़ों की पूजा करना शुभ माना जाता है वास्तु के अनुसार भी पितृ पक्ष में इन पेड़ों की विधि -विधान से पूजा की जाएं तो पितृ प्रसन्न होते है और आशीर्वाद देते है। 

pic
बरगद के पेड़ को वट का वृक्ष भी कहा जाता है वैसे तो हर समय इस पेड़ का काफी महत्व है लेकिन पितृ पक्ष में इस पेड़ का महत्व काफी बढ़ जाता है इस पेड़ की पूजा करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है पितृ पक्ष में जल में काला  तिल मिलाकर बरगद के पेड़ में अर्पित करें। 

pic
वैसे तो हम लोग पीपल के पेड़ की तुलना अक्सर करते है पितृ पक्ष में पीपल के पेड़ की पूजा करने से पितृ दोष से मुक्ति मिलती है इस दौरान दोपहर के समय जल में दूध मिलाकर पीपल के पेड़ को अर्पित करें और शाम के समय पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
बेल का पौधा लगाने और उसकी रोजाना देखभाल करने से पितृ प्रसन्न होते है पितृ पक्ष के दौरान सुबह के समय जल में गंगाजल की कुछ बुँदे मिलाकर बेल के पेड़ में चढ़ाएं ऐसा करने से पितृ प्रसन्न होते है उनका आशीर्वाद भी मिलता है।