Fruit Identification : कैसे पता करे कि अमरुद मीठा है या नहीं, जानने के अवश्य फॉलो करे ये आसान ट्रिक्स

 
cxc

भारत में हर तरह की वैरायटी का फल देखने को मिलता है फलों की भी कई तरह की वैरायटी होती है और इसका स्वाद भी अलग अलग होता है सेहत के लिए यह साल काफी फायदेमंद माने जाते हैं। इनमें मौजूद न्यूट्रेशन सेहत को काफी दूरस्थ रखते हैं और शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने में फायदेमंद होते हैं। हर फल का एक सीजन होता है इन दिनों अमरूद का सीजन चल रहा है। बाजार में अलग-अलग वैरायटी और आकार  के अमरुद मिल जाएंगे। लेकिन खरीदने से पहले फल की मिठास का पता लगाना बेहद जरूरी होता है। तो आइए जानते हैं ख्वाजा और मीठा फल खरीदने की आसान ट्रिक

फल का रंग देखें
बाजार में आपको अलग-अलग वैरायटी के अमरुद मिल जाएंगे। आपने इनके रंग पर गौर किया है यदि मीठा फल खरीदना है तो पीले रंग के अमरुद को छूने। लेकिन खट्टे अंगूर पसंद है तो हरा रंग का अमरुद खरीद सकते हैं। यदि अमरूद का रंग हरा और पीला मिक्स है तो अमरुद  खराब भी हो सकता है। यदि बिल्कुल पीले रंग का अमरुद नहीं मिलता तो हरे रंग का अमरुद करें सकते हैं जो कुछ ही दिन में पक कर पीला और मीठा हो जाता है। 

 महक से करें पहचान
 यदि आप बाजार से अमरुद खरीद रहे हैं तो अमरूद की भी एक मीठी सोंधी महक होती है। जिसे फलों के पास खड़े होकर महसूस किया जा सकता है। यदि अमरुद नेचुरल ही महक रहा है तो यह है मीठा होगा वरना अमरुद अंदर से कच्चा भी निकल सकता है। 

वजन से करें पहचान
अमरूद की कई तरह की वैरायटी होती है हर वैरायटी का आकार और वजन अलग-अलग होता है। लेकिन कम या नॉर्मल वजन वाले फलों को खरीदना सही रहता है। ज्यादा वजन वाले अमरुद में बीच कड़क रह जाते हैं। जो दातों में अटकते हैं। अक्सर बड़े आकार के अमरुद में बीज अधिक नहीं निकलते हैं। इसलिए अमरुद खरीदने से पहले आकार का अवश्य ध्यान रखें। also read : 
2023 : इस साल में उतरप्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार लगातार तैयार कर रही प्लान, यहाँ जानिए कैसे उठाए लाभ

दागदार न हो
किसी भी फल को खरीदने से पहले हाथ में लेकर जरूर देखना चाहिए। अमरुद जितना ज्यादा नरम होता है अंदर से उतना ही अधिक मीठा होता है। हालांकि ऐसे फलों में डाल दिया कीड़े लगने की संभावना अधिक रहती है। इसलिए खरीदने के बाद फलों को फ्रिज में स्टोर करें। 
यदि अमरूद के फलों के ऊपर दाग धब्बे या खुरदरा लगे तो ऐसे फलों को नहीं खरीदना चाहिए। हमेशा घर लाने के बाद फलो को धोकर ही खाएं। क्योंकि इन पर कई तरह के पेस्टीसाइड और फ़र्टिलाइज़र का इस्तेमाल किया जाता है। जो सेहत के लिए अच्छा नहीं होता हैं।