जरबेरा की खेती कर बन सकते है लखपति ,औषधियों में भी होता है इस्तेमाल

 
pic

इंडियन फार्मर अब परंपरागत खेती से इतर वह नई फसलों की खेती करने लगे है शरद ऋतू वसंत ऋतू और बरसात के मौसम में बोये जाने वाले इस फूल की खेती कर किसान बंपर कमाई कर सकते है 

pic
कई रंग के होते है इसके फूल 
जरबेरा का फूल एक बारहमासी पौधा है इस फूल में पीले ,नारंगी ,गुलाबी लाल और कई अन्य रंगों के होते है ये इसकी सुंदरता को बढ़ाते है साथ ही डंडे काफी लंबे और हरे रंग के होते है 
इन फूलों का इस्तेमाल यहां होता है 
जरबेरा के फूलों का इस्तेमाल शादी समारोह में सजावट के लिए किया जाता है इसके अलावा पत्तों का उपयोग आयुर्वेद ओषधियों में किया जाता है इसके बीज दो सप्ताह में अंकुरित हो जाते है इसका रोपण कटिंग विधि से भी किया जा सकता है इसके पौधे को लगाने से पहले खेतों की जुताई 2 से 3 बार करनी पड़ती है 

pic
इसकी खेती करने के लिए हल्की बलुई दोमट मिटटी सबसे उपयुक्त है इस दौरान खेतों में जलनिकासी व्यवस्था अच्छी होनी चाहिए पानी लगने की वजह से इसके पौधे सड़ जाते है और कई तरह के रोग और कीटाणु लग जाते है इसकी खेती करने से पहले ध्यान रखना चाहिए की वहां धुप अच्छी तरह से पहुंच सकें धुप न मिलने पर पौधे का विकास नहीं होता है 
जरबेरा की खेती में जुताई से लेकर कटाई तक प्रति हेक्टेयर लगभग 2 से 3 लाख रूपये तक का खर्चा आता है बाजार में इसके भाव अच्छे होते है ऐसे में किसान इनको मार्केट में बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते है